रविवार, 3 मार्च 2013

बांग्लादेशी हिन्दुओ को बचाओ ?

बांग्लादेश में बड़े पैमाने पर हिन्दुओ के साथ अत्याचार किया जा रहा है गौरतलब हो की जमाते इश्लामी नेता को फासी दिए जाने के बाद यहाँ तनाव उत्पन हुआ है जमाते इस्लामी के नेता को १९७१ के युद्ध में पाकिस्तान का साथ देने के आरोप में बांग्लादेश सरकार द्वारा फाशी की सजा दी गई और उसके बाद से ही जमात के सद्श्यो द्वारा अल्पसंख्यक हिन्दुओ के ऊपर अत्याचार हो रहा है .हिंसा में अब तक सैकड़ो जाने जा चुकी है वही सूत्रों की माने तो इस हिंसा का पूरा लाभ आई एस आई उठा रही है और भारत विरोधी ताकतों को भारतीय सीमा में प्रवेश की योजना तैयार की जा रही है बांग्लादेश में हिन्दुओ के घर जलाये जा रहे है मंदिरों को तोडा जा रहा है महिलाओ के साथ दुराचार किये जा रहे है और भारत सरकार की और से अभी तक कोई बयान तक नहीं आया है भारत बांग्लादेश सीमा पर तनाव की स्तिथि बनी हुई है हिंसा का शिकार बने हिंदुओं के मुताबिक इन घटनाओं ने उन्हें 1971 के दौर की याद दिला दी है। जमात-ए-इस्लामी सदस्यों के उत्पात का निशाना बने राजगंज इलाके के शिक्षक शंकर चंद्र ने डेली स्टार को फोन करके बताया कि उनके समेत करीब 50 हिंदू परिवारों को अपना घर-बार छोड़कर अन्य जगह शरण लेनी पड़ी है, क्योंकि जमात के लोग हिंदुओं के घर जलाने के साथ-साथ उनकी पिटाई भी कर रहे हैं। शंकर चंद्र ने कहा कि 1971 में वह सात साल के थे, लेकिन तब उतना भयभीत नहीं थे जितने आज हैं। -- हजारो इ संख्या में हिन्दू अपना घर बार छोड़ कर पालयन कर रहे है .भारत सरकार को जल्द से जल्द कदम उठाने की आवश्यकता है ताकि अल्प संख्यक बांग्लादेशी हिन्दुओ के जान माल की रक्षा हो सके  

2 टिप्‍पणियां:

  1. Itne Bangladeshi jabardasti ghus ke baithe hain India mei...usey lekar to sarkar nei kuch kaha hi nahi aajtak.... kahan jayenge wo HInduon ko bachane Bangladesh mei ?

    उत्तर देंहटाएं
  2. sahi kaha aap ne desh me 3 crore bangladeshi ghuspaithiye hai lekin sarkar ki videsh niti bhi to hai kadi pratikirya to honi chahiye

    उत्तर देंहटाएं